Explore

Search
Close this search box.

Search

Friday, May 24, 2024, 7:18 pm

Friday, May 24, 2024, 7:18 pm

Search
Close this search box.
LATEST NEWS
Lifestyle

विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने तैयारियां तेज की, फिर से गहलोत सरकार के होर्डिंग नजर आने लगे

Share This Post

-गहलोत को पूरा भरोसा, जनता उन्हें चौथी बार मौका देगी, उनके काम ही उनकी पहचान

-कांग्रेस की 8 कमेटियां घोषित : को-ऑर्डिनेशन कमेटी में 26 प्रमुख नेताओं को जगह मिली : रंधावा, गहलोत, पायलट व डोटासरा सहित 10 की कोर कमेटी, 8 कमेटियों में मंत्री और पदाधिकारियों को जगह

-जनता का मूड इस बार गहलोत को फिर से मौका देने का, वसुंधरा को भाजपा में साइड लाइन करने का भाजपा को नुकसान होना तय

राखी पुरोहित. जोधपुर

भाजपा की पूर्व राजस्थान की मुख्यमंत्री और स्टार नेत्री वसुंधरा राजे को पार्टी में साइड लाइन करने का भाजपा को नुकसान होना तय है। क्योंकि वसुंधरा राजे को भाजपा की जनता पसंद करती है और विधायकों पर भी उनकी पकड़ मजबूत है। लेकिन केंद्रीय नेतृत्व में इस बार वसुंधरा के पर कतर कर अपने चहेते नेताओं को आगे किया है। इससे पार्टी में गुटबाजी को बढ़ावा मिलना तय है और इसका विधानसभा चुनाव में भाजपा को नुकसान उठाना भी तय है। इधर कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी जमीनी तैयारियां तेज कर दी है। पूरे राजस्थान में फिर से गहलोत सरकार के पोस्टर और होर्डिंग सटने लगे हैं। कांग्रेस फिर से नए उत्साह से मैदान में कूद गई है। अशोक गहलोत अपने कार्यों की बदौलत फिर से सरकार बनाने का मंसूबा बना चुके हैं। जनता में भी गहलोत के प्रति नफरत नहीं है। ना ही सत्ता विरोधी कोई लहर है। ऐसे में लगता तो यही है कि गहलोत सरकार फिर से रिपिट होगी।

अशोक गहलोत के काम ही उनकी पहचान है। अब कांग्रेस में सबकुछ सही चल रहा है। इधर विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले कांग्रेस ने प्रदेश की बची हुई 8 कमेटियों की घोषणा कर दी है। सबसे प्रमुख कोर कमेटी में 26 प्रमुख नेताओं को जगह दी गई है। इसके अलावा कैंपेन कमेटी में 21, मैनिफेस्टो कमेटी में 21, स्ट्रेटेजिक कमेटी में 26, मीडिया एंड कम्युनिकेशन कमेटी में 22, पब्लिसिटी एंड एब्लिकेशन कमेटी में 21 और प्रोटोकॉल कमेटी में 21 नेताओं को स्थान दिया गया है।

कोर कमेटी : 

सुखजिंदर सिंह रंधावा कन्वीनर, सीएम अशोक गहलोत, प्रदेशाध्यक्ष गोविंदसिंह डोटासरा, पूर्व सांसद जितेंद्रसिंह, पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट, पंजाब के प्रभाराी हरीश चौधरी, मंत्री महेंद्रजीत सिंह मालवीया, वरिष्ठ नेता मोहन प्रकाश, स्पीकर डॉ. सीपी जोशी और मंत्री गोविंदराम मेघवाल।

को-ऑर्डिनेशन कमेटी : 

अशोक गहलोत, गोविंदसिंह डोटासरा, जितेंद्रसिंह, सचिन पायलट, हरीश चौधरी, महेंद्रजीत सिंह मालवीया, मोहन प्रकाश, गिरिजा व्यास, नारायण सिंह, बीडी कल्ला, डॉ. चंद्रभान, रघुवीर सिंह मीणा, रघु शर्मा, हेमाराम चौधरी, परसादीलाल मीणा, उदयलाल आंजना, भजनलाल जाटव, टीकाराम जूली, भंवरसिंह भाटी, ताराचंद भगोरा, शांति धारीवाल, गुरमीत सिंह कुन्नर, मंजू मेघवाल, महेंद्र चौधरी, दिनेश खेडानिया। इनके अलावा इलेक्शन संबंधी सभी कमेटियों के सभी चेयरपर्सन पदेन सदस्य।

मैनिफेस्टो कमेटी :

चेयरपर्सन डॉ. सीपी जोशी, को-चेयरमैन नीरज डांगी, कन्वीनर गौरव वल्लभ, टीकाराम मीणा व पुखराज पाराशर को-कन्वीनर। सदस्य निरंजन आर्य, डॉ. विजेंद्रसिंह सिद्धू, पारस व्यास, जाकिर हुसैन, कुलदीप सिंह पूनिया, शेरसिंह सूपा, गिरिराज गर्ग, जीएस बापना, रूपसिंह बारैठ, पीएस वर्मा, जगदीशचंद्र जांगिड़, सीताराम लांबा, डॉ. आईवी त्रिवेदी, हिम्मतसिंह गुर्जर, सुनील परिहार, वंदना मीणा। मुख्यमंत्री, प्रदेशाध्यक्ष व सीडब्ल्सूसी सदस्य पदेन सदस्य।

पब्लिसिटी व पब्लिकेशन कमेटी :

मुरारीलाल मीणा चेयरपर्सन, अर्जुन बामनिया कोचेयरमैन, सुदर्शनसिंह रावत कन्वीनर, आरसी चौधरी व राजीव अरोड़ा को कन्वीनर, सदस्य परसराम मोरदिया, दयाराम परमार, अशोक बैरवा, राजेंद्र चौधरी, सीताराम अग्रवाल, रामगोपाल बैरवा, महेंद्र खेड़ी, देशराज मीणा, नरेश चौधरी, राहुल भाकर, अभिमन्यु पूनिया, सुधींद्र मूंड, क्रांति तवारी, दीपांश हेमनानी व विजय जैन।

स्ट्रेटेजिक कमेटी :

हरीश चौधरी अध्यक्ष, धीरज गुर्जर को-चेयरमैन, रोहित बोहरा कन्वीनर, रामसिंह कस्वां व अमित चाचान को-कन्वीनर। सदस्य रामेश्वर डूडी, शकुंतला रावत, वाजिब अली, मदन प्रजापत, मानवेंद्र सिंह, रतन देवासी, मांगीलाल गरासिया, रूपाराम मेघवाल, कैलाश मीणा, मदनगोपाल मेघवाल, डूंगरराम गैदर, खानू खान बुधवाली, पवन गोदारा, विशाल जांगिड़, संगीता बेनीवाल, उर्मिला योगी, ललित यादव, अजीत यादव, अमित मुदगल, शमा बानो व जयंती विश्नोई। मुख्यमंत्री, प्रदेशाध्यक्ष, डीडब्ल्यूसी सदस्य व इलेक्शन संबंधी कमेटियों के चेयरमैन पदेन सदस्य होंगे।

प्रोटोकॉल कमेटी :

प्रमोद जैन भाया चेयरमैन, टीकाराम जूली को-चेयरमैन, मुमताज मसीह कन्वीनर, रफीक खान व पुष्पेंद्र भारद्वाज को-कन्वीनर, सदस्य प्रहलाद झुरिया, नसीम अख्तर इंसाफ, जिया उर रहमान, किसनाराम विश्नोई, विद्याधर चौधरी, संदीप चौधरी, वीरेंद्र झाला, कैप्टेन अरविंद कुमार, रघुवीर राठौड़, छोटूराम मीणा, भीमसिंह चूंडावत, राजीव त्रेहान, प्रमोद सिसोदिया, महिन खान, ललित बोरीवाल, बाबूलाल जैन।

कैंपेन कमेटी :

चेयपर्सन गोविंदराम मेघवाल, को-चेयरमैन अशोक चांदना, कन्वीनर राजकुमार शर्मा, को-कन्वीनर दानिश अबरार व चेतन डूडी, सदस्य प्रतापसिंह खाचरियावास, रामलाल जाट, कृष्णा पूनिया, गणेश घोघरा, रामलाल मीणा, वैभव गहलोत, महेंद्र गहलोत, घनश्याम मेहर, गजेंद्रसिंह सांखला, किशनलाल जडिया, जगदीश श्रीमाली, राखी गौतम, हेमसिंह शेखावत, अभिषेक चौधरी, यशवीर शूरा और नीतू कंवर भाटी। मुख्यमंत्री, प्रदेशाध्यक्ष, सीडब्ल्यूसी सदस्य और इलेक्शन कमेटी के चेयरपर्सन पदेन सदस्य।

मीडिया व कम्युनिकेशन कमेटी :

अध्यक्ष ममता भूपेश, स्वर्णिम चतुर्वेदी, को-चेयरमैन, मुकेश भाकर कन्वीनर, जसवंत गर्जर व प्रशांत बैरवा को-कन्वीनर, सदस्य राजकुमार जयपाल, सुरेश चौधरी, प्रतिष्इा यादव, हरीश चौधरी सिरोही, राजेंद्र यादव, विक्रम स्वामी, पंकज मेहता, प्रदीप चतुर्वेदी, प्रतीक सिंह, पंकज शर्मा, नितिन सारस्वत, इंदाराम भाटी, दीनबंधु शर्मा, डिपंल राठौड़, प्रियदर्शी भटनागर, मोहम्मद हदरीश गौरी व संग्राम सिंह।

कांग्रेस में नई जान फूंकी, अशोक गहलोत के नेतृत्व में सब एकजुट 

नई कमेटियां बनने के बाद कांग्रेस में नई जान फूंकी गई है। अशोक गहलोत के नेतृत्व में सब एकजुट हैं। गहलोत का कहना है कि कांग्रेस अपने कार्यों की वजह से फिर से सत्ता में लौटेगी।

मोदी से देश नहीं चलता तो कुर्सी छोड़ें, हम चलाएंगे, हमे 70 साल का अनुभव :

भीलवाड़ा। चुनाव को लेकर भाजपा के शीर्ष नेताओं के ताबड़तोड़ राजस्थान दौरों के बीच बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे भीलवाड़ा आए। गुलाबपुरा में भीलवाड़ा सरस डेयरी के किसान-पशुपालक सम्मेलन को संबोधित किया। बतौर राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश में पहली सभा में उन्होंने कहा, केंद्र सरकार लोगों की मदद नहीं कर सकती तो किस काम की? आपके हाथ से काम नहीं होते तो कुर्सी छोड़ें। हम देश चलाकर दिखाएंगे। पहले भी चलाया है। 70 साल कोई पार्टी देश चलाती है तो उसके पास कितना अनुभव है। कितने लोगों का प्रेम है। इंडिया गठबंधन पर कहा, इंडिया का नाम संविधान में लिखा है। इसमें मोदी को ऐतराज क्यों हैं? हम भारत जोड़ो बोलते हैं, भाजपा वाले तोड़ो बोलते हैं। कार्यक्रम में सीएम अशोक गहलोत, प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा, प्रदेश अध्यक्ष गोविंदसिंह डोटासरा, राजस्व मंत्री रामलाल जाट, स्पीर सीपी जोशी सहित कई मंत्री मौजूद थे। सभा में 173 दिव्यांगों को स्कूटी बांटी गई। पशुओं के लिए कामधेनु बीमा योजना शुरू की गई। डेयरी के 222 करोड़ के कार्यों सहित अन्य कार्यों का शिलान्यास-लोकार्पण किया गया।

शेखावत खरगे के लिए बोले- सनातन धर्म को हराने तेरे बाप खिलजी-गजनी…आए थे

बाड़मेर। धोरीमन्ना में भाजपा की परिवर्तन संकल्प यात्रा की जनसभा में केंद्रीय मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे पर टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि खरगे आज राजस्थान आए हैं। इन्हीं खरगे साहब ने कहा था, मोदी जीता को सनातन मजबूत हो जाएगा।

इसी सनातन को हमको हराना है। तेरे बाप गौरी आए थे, खिलजी आए थे, गजनी आए थे, खलीफा आए थे और औरंगजेब जैसे लोग भी आए थे। ये भगवाधारी लोग यहां बैठे हैं । उनके आशीर्वाद से सनातन मिटा नहीं हैं।

 

 

Rising Bhaskar
Author: Rising Bhaskar


Share This Post

Leave a Comment