Explore

Search
Close this search box.

Search

Friday, June 21, 2024, 10:25 pm

Friday, June 21, 2024, 10:25 pm

Search
Close this search box.
LATEST NEWS
Lifestyle

हिंदी यूएसए सेंट लुइस को अमेरिका के मेजर लीग सॉकर गेम में ऐतिहासिक मान्यता / मयंक को मिला exceptional neighbour award

Share This Post

रविदत्त मोहता. अमेरिका

हिंदी यूएसए सेंट लुइस ने 25 मई 2024 के दिन इतिहास रच दिया, जब 22,000 लोगों के सामने सेंट लुइस में एक मेजर लीग सॉकर (MLS) गेम के दौरान पहली बार एक गैर-लाभकारी हिंदी भाषा संस्था हिन्दी USA और हिन्दी भाषा को सम्मानित किया गया। यह सम्मान अमेरिका के प्रतिष्ठित राष्ट्रीय खेल टीवी चैनल FOX TV ऑटो ऐपल टीवी प्लस पर लाइव प्रसारित हुआ। दुनिया की चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा को अब विदेशी भूमि में अप्रत्याशित मान्यता मिल रही है। यह सम्मान उन सभी संगठनों के लिए ख़ुशी की बात है जो हिंदी भाषा और भारतीय संस्कृति को सिखाते, प्रचारित और मनाते हैं।

मयंक जैन को एंटरप्राइज, अमेरिका की सबसे बड़ी रेंटल कार कंपनी और सेंट लुइस सिटी सॉकर क्लब द्वारा एक्सेप्शनल नेबर अवार्ड से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार उन्हें सैंट लुईस मिसौरी, अमेरिका में इनकी हिन्दी पाठशाला भाषा सिखाने के काम के लिए दिया गया है। मयंक जैन के 2018 में अपनी पत्नी डॉ. अंशु जैन और चार अन्य स्वयंसेवकों के सहयोग से गैर-लाभकारी हिंदी भाषा स्कूल शुरू था और पिछले छह वर्षों में, यह स्कूल पूरे मिडवेस्ट में सबसे बड़ा हिंदी भाषा स्कूल बन गया है। मयंक ने यह पुरस्कार हिंदी यूएसए सेंट लुइस की पूरी स्वयंसेवी टीम के साथ-साथ हिंदी यूएसए एनजे के देवेंद्र सिंह और रचिता, जो हिंदीयूएसए ग्लोबल के संस्थापक हैं, को समर्पित किया। हिंदी यूएसए सैंट लुईस के बाईस छात्रों ने पेशेवर सॉकर खिलाड़ियों के साथ प्लेयर पल्स के रूप में चलने और अमेरिका के राष्ट्रीय गान गाने के साथ साथ हिंदी भाषा और भारत के प्रतिनिधित्व का अवसर मिला।

सेंट लुइस सिटी एससी (सॉकर टीम) ने सेंट लुइस और सिएटल के बीच MLS सॉकर गेम के लिए 100 से अधिक हिंदीयूएसए कार्यकर्ताओं को आमंत्रित किया। विशेष मेहमानों में सेंट लुइस मोज़ेक प्रोजेक्ट, इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट सेंट लुइस और मिसौरी के सिखों के प्रतिनिधि शामिल थे। हिंदीयूएसए सेंट लुइस ने इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट, एक संस्था जोकि सैंट लुईस में शरणार्थियों को मदद करती है, के साथ मिलकर एक शरणार्थी परिवार को भी आमंत्रित किया, जिसमें दो बच्चे शामिल थे। यह परिवार छह महीने पहले संयुक्त राज्य अमेरिका आए थे। मयंक जैन की पहल ने इन प्यारे 8-10 साल के बच्चों के चेहरों पर मुस्कान ला दी।

मयंक ने एंटरप्राइज और सेंट लुइस सिटी एससी संस्थाओं का धन्यवाद किया जिन्होंने इस एक्सेप्शनल नेबर पुरस्कार कार्यक्रम की स्थापना की, जिससे सैंट लुईस सुंदर शहर और अधिक विविध और समावेशी बन गया है। यह आयोजन एशियाई अमेरिकी, नेटिव हवाईयन और पैसिफिक आइलैंडर हेरिटेज मंथ (AANHPI हेरिटेज मंथ) का एक सच्चा उत्सव था। मयंक जैन और इनकी पत्नी डॉ. अंशु जैन दोनों, भिलाई छत्तीसगढ़ से हैं और पिछले २० वर्षों से अमेरिका में रह रहे हैं।

Rising Bhaskar
Author: Rising Bhaskar


Share This Post

Leave a Comment